Folk Songs

    जग छु यौ पराई शेरूवा हो

    Read This Article in Hindi/ English/ Kumauni/ Garwali

    जग छु यौ पराई शेरूवा हो, हिटो लौटि चलो।
    आपणि-आपणि होलि यां भोल रे, तेरी सुध को ल्हेलो।

    चै चै बेर यां मुख चानई।
    ठग रूनी यां ठगि खानई।
    को छु यां त्यर दुख देखणी।
    कैथैं कौले तू पीड़ आपणी।
     यै में छु भलाई शेरूवा हो, हिटो लौटि चलो।
     आपणि-आपणि होलि यां भोल रे, तेरी सुध को ल्हेलो।

    एक सा छन यां मनखी सारै।
    मुख में न्यारै दिल में न्यारै।
    सबै छन यां दिल दुखूणी।
    को छु तुकैं छाति लगूणी।
     यां रूनी हरजाई शेरूवा, हिटो लौटि चलो।
     आपणि-आपणि होलि यां भोल रे, तेरी सुध को ल्हेलो।

    धरमा जाड़ या खुकाव हैगी।
    मनखी जै के मनखी रैगी।
    आदिमकि इज्जत न्हैतिन यां।
    इज्जतकि कीमत न्हैतिन यां।
     यौ दुणी दुखदाई शेरूवा हो, हिटो लौटि चलो।
     आपणि-आपणि होलि यां भोल रे, तेरी सुध को ल्हेलो।

    यौ बिराण देश छु औरा।
    को देलो तुकैं द्वि घड़ी ठौरा।
    देखि माया, के माया है रैछो।
    माया में दुणी रणी मरैछो।
     माया लै दुणी खाई शेरूवा हो, हिटो लौटि चलो।
     आपणि आपणि होलि यां भोल रे, तेरी सुध को ल्हेलो।

    जग छु यौ पराई शेरूवा हो, हिटो लौटि चलो।

    Related Article

    Aa Ha Re Sabha

    Sherda Bhal Cha

    Dvi Dinak Dyar

    Paaravatee Ko Maitudaa Desh

    Ijukee naraa_ii laagaili

    Aas dinai re

    Kargilak Shaheed Javaan

    Leave A Comment ?

    Popular Articles

    घुघुती बासुती - Ghughuti Basuti

    हमरो कुमाऊँ - Humro Kumaon

    बेडू पाको बारमासा - Bedu Pako Baramasa

    अटकन बटकन दही - Atkan Batkan Dahi

    उड़ कूची मुड़ कुचि - Ud Koochi Mudh Kuchi

    भूली निजान आपुण देश - Bhooli Nijan Apun Desh

    Aa Ha Re Sabha

    827

    भली तेरी जन्म भूमि - Bhali Teri Janmbhoomi

    796

    Sherda Bhal Cha

    770

    Yatra

    766

    Also Know

    Tum Siddhi Karo Mahaaraaj

    442

    Yah rng chunaavee rng thairaa

    286

    Haraa Pnkh Mukh Laal Suvaa

    264

    Jaintaa Ek Din To Aalo

    291

    हमरो कुमाऊँ - Humro Kumaon

    Ke Ni Hun

    300

    He merii aankhyun kaa ratan

    592

    Kuchh Gaanv Saa Baakee Hai

    194

    Jay Golu Devata

    238

    Malat Malat Nainaa Laal Bhaye

    296