Folk Songs

    कैसे कह दूँ, इन सालों में

    Read This Article in Hindi/ English/ Kumauni/ Garwali

    कैसे कह दूँ, इन सालों में,

    कुछ भी नहीं घटा कुछ नहीं हुआ,

    दो बार नाम बदला-अदला,

    दो-दो सरकारें बदल गई

    और चार मुख्यमंत्री झेले ।


    "राजधानी" अब तक लटकी है,

    कुछ पता नहीं "दीक्षित" का पर,

    मानसिक सुई थी जहाँ रुकी,

    गढ़-कुमूँ-पहाड़ी-मैदानी, इत्यादि-आदि,

    वो सुई वहीं पर अटकी है ।


    वो बाहर से जो हैं सो पर,

    भीतरी घाव गहराते हैं,

    आँखों से लहू रुलाते हैं ।

    वह गन्ने के खेतों वाली,

    आँखें जब उठाती हैं,

    भीतर तक दहला जातीं हैं ।


    सच पूछो- उन भोली-भाली,

    आँखों का सपना बिखर गया ।

    यह राज्य बेचारा "दिल्ली-देहरा एक्सप्रेस"

    बनकर ठहर गया है ।

    जिसमें बैठे अधिकांश माफ़िया,

    हैं या उनके प्यादे हैं,

    बाहर से सब चिकने-चुपड़े,

    भीतर नापाक इरादे हैं,

    जो कल तक आँखें चुराते थे,

    वो बने फिरे शहजादे हैं ।


    थोड़ी भी गैरत होती तो,

    शर्म से उनको गढ़ जाना था,

    बेशर्म वही इतराते हैं ।

    सच पूछो तो उत्तराखण्ड का,

    सपना चकनाचूर हुआ,

    यह लेन-देन, बिक्री-खरीद का,

    गहराता नासूर हुआ ।

    दिल-धमनी, मन-मस्तिष्क बिके,

    जंगल-जल कत्लेआम हुआ,

    जो पहले छिट-पुट होता था,

    वो सब अब खुलेआम हुआ ।


    पर बेशर्मों से कहना क्या?

    लेकिन "चुप्पी" भी ठीक नहीं,

    कोई तो तोड़ेगा यह 'चुप्पी'

    इसलिये तुम्हारे माध्यम से,

    धर दिये सामने सही हाल,

    उत्तराखण्ड के आठ साल.....!

    Related Article

    Keisha Ho School Humara

    Yatra

    Leave A Comment ?

    Popular Articles

    हमरो कुमाऊँ - Humro Kumaon

    431

    घुघुती बासुती - Ghughuti Basuti

    372

    भूली निजान आपुण देश - Bhooli Nijan Apun Desh

    364

    अटकन बटकन दही - Atkan Batkan Dahi

    335

    उड़ कूची मुड़ कुचि - Ud Koochi Mudh Kuchi

    330

    बेडू पाको बारमासा - Bedu Pako Baramasa

    293

    भली तेरी जन्म भूमि - Bhali Teri Janmbhoomi

    263

    Yatra

    171

    Humra Pahadu Ki Nari

    143

    Keisha Ho School Humara

    141

    Also Know

    Dvi Dinak Dyar

    113

    भूली निजान आपुण देश - Bhooli Nijan Apun Desh

    364

    Daaliyon Naa Kaataa

    102

    Dagadoo ni Raiaoo Sadaani Dagadyaa

    118

    He merii aankhyun kaa ratan

    122

    Bolaa Bhai-Bandhoo Tumathain Hanoo Uttarakhand ChayeNoo Chh

    111

    Yatra

    171

    Humra Pahadu Ki Nari

    143

    Sherda Bhal Cha

    134

    हमरो कुमाऊँ - Humro Kumaon

    431