KnowledgeBase


    टपकेश्वर महादेव मंदिर

    Tapkeshwar Mahadev Temple

    टपकेश्वर महादेव मंदिर

    जिलादेहरादून
    स्थितिISBT देहरादून से 10km


    भगवान शिव को समर्पित टपकेश्वर मंदिर देहरादून शहर से लगभग 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह मंदिर देहरादूर कैंट एरिया में एक छोटी नदी के किनारे स्थित है। यह मंदिर देहरादून के दर्शनीय स्थलों में से एक है। इस मंदिर में चट्टानों से लगातार पानी की बूंदे शिवलिंग पर गिरती है जिस वजह से इसे टपकेश्वर मंदिर के नाम से जाना जाता है। इसके बारे में कहा जाता है कि एक समय में यह जगह गुरू द्रोणाचार्य जी की तपस्या का स्थान हुआ करता था। इस जगह पर भगवान शिव हर दिन द्रोणाचार्य जी को धर्नुविद्या का ज्ञान देने आते थे। इस जगह को द्रोणाचार्य अश्वत्थामा की जन्मस्थली के तौर पर भी जाना जाता है। इस जगह के बारे में ऐसी भी मान्यता है कि द्वापर युग में शिवलिंग पर दूध टपकता था जो कि कलयुग में पानी में बदल गया।


    यह मंदिर चारो तरफ से घने जंगलों से घिरा हुआ है जिस वजह से इस मंदिर तक पहुॅंचने के लिए तकरीबन 1 किलोमीटर तक पैदल चलना पड़ता है। महाशिवरात्रि और श्रावण मास के दौरान इस मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है। भगवान शिव के अलावा इस जगह पर कई ओर देवी-देवताओं की भी प्रतिमा देखने को मिलती है। इस मंदिर में एक शिवलिंग ऐसा भी है जो 5151 रुद्राक्षों से बना हुआ है। टपकेश्वर शिवलिंग के बारे में 6 हजार वर्षो से स्कंद पुराण केदार खण्ड में भी उल्लेख किया गया है। टपकेश्वर में हर साल मेले का आयोजन किया जाता है उस दौरान हजारों की संख्या में श्रद्धालु इस मंदिर में पहुॅंचते हैं।


    मंदिर तक कैसे पहुॅंचे


    दिल्ली से देहरादून आप सड़क, रेल व हवाई मार्ग के जरिए पहुॅंच सकते हो। देहरादून से नजदीक होने के कारण टपकेश्वर मंदिर तक आप ऑटो, टैक्सी या फिर किसी भी निजी वाहन के जरिए पहुॅंचा जा सकता है।

    Leave A Comment ?