KnowledgeBase


    बिपिन चंद्र जोशी

    Bipin Chandra Joshi

    बिपिन चंद्र जोशी

    जन्म5 दिसम्बर, 1935
    जन्म स्थानपिथौरागढ़
    व्यवसायभारतीय सेना
    पदजनरल
    सेवाकाल1954-1994
    मृत्युनवम्बर 19, 1994

    जनरल विपिन चंद्र जोशी, भारतीय सेना के 17 वें चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ (सीओएएस) थे। उनका जन्म पिठौरागढ़, उत्तराखंड में हुआ था। वह द जनरल बी.सी. जोशी आर्मी पब्लिक स्कूल के संस्थापक थे, जो पिथौरागढ़, उत्तराखंड में स्थित है। नई दिल्ली के सैन्य अस्पताल में 19 नवंबर, 1994 को गंभीर हार्ट अटैक होने के कारण उनकी मृत्यु हो गई। वह भारतीय सेना का एकमात्र जनरल है, जिनका सेवा में रहते हुए देहांत हो गया। वह एक महान सैनिक थे और 1990 में, उन्होंने कश्मीर में विद्रोह से लड़ने के लिए में राष्ट्रीय राइफल्स का नेतृत्व किया था।


    करियर


    ⚬ 4 दिसंबर 1956 में 64 कैवलरी रेजिमेंट में भारतीय सेना के बख्तरबंद कोर में कमीशंड हुए।
    ⚬ १९७१ में भारत-पाक युद्ध के दौरान पश्चिमी क्षेत्र में एक बख़्तरबंद रेजिमेंट का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने एक स्वतंत्र बख्तरबंद ब्रिगेड और एक इन्फैंट्री डिवीजन की भी व्यवस्था की।
    ⚬ मई १९७३ से अक्टूबर १९७६ तक ऑस्ट्रेलिया में सैन्य सलाहकार रहे।
    ⚬ गाजा में संयुक्त राष्ट्र फौज में स्टाफ अधिकारी रहे।
    ⚬ दक्षिणी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ बने।
    ⚬ सेना प्रमुख मुख्यालय में परिप्रेक्ष्य योजना के अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी पीपी) और महानिदेशक सैन्य संचालन (डीजीएमओ) रहे।
    ⚬ कॉम्बैट कॉलेज, महू, मध्य प्रदेश में निदेशक रहे।
    ⚬ अगस्त 1994 में आर्मी इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, पुणे की स्थापना की।


    सम्मान


    जनरल जोशी को अपने असाधारण व प्रतिष्ठित सेवा के लिए परम विशिष्ट सेवा पदक (पीवीएसएम) और अति विशिष्ट सेवा पदक (एवीएसएम) सम्मान प्राप्त हुआ।


    मृत्यु


    वह 19 नवंबर, 1994 को हृदय रोग का दौरा करने के कारण 59 वर्ष की उम्र में नई दिल्ली के सैन्य अस्पताल में उनका निधन हो गया। उन्होंने उसी दिन सुबह गोल्फ खेलने के दौरान बाद छाती में दर्द की शिकायत बताई थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह दिसंबर 1995 में रिटायर होने वाले थे।

    Leave A Comment ?