KnowledgeBase

    नैन नाथ रावल

    Read This Article in Hindi/ English/ Kumauni/ Garwali

    नैन नाथ रावल
    जन्म तिथि - 13 मई, 1943
    जन्म स्थान - ग्राम सिरौड़ा, दन्या अल्मोड़ा



    आप को गाने का शौक बचपन से ही था। गाने की प्रेरणा आप को अपने आस पास के लोक से मिली। उस वक्त के लोकगायक मोहन सिंह रीठागड़ी जी से प्रेरित होकर आपने गीत गाने शुरू किये। इन्ही को सुनकर प्रयास करते करते गीत गाना शुरू किया। जागेश्वर में एक बार किसी कार्यक्रम में रीठागड़ी जी के साथ आप को गाना गाने का मौका मिला, उन्ही के आर्शीवाद से आपने अपने गायन कला को आगे बढ़ाया। आपने लगभग 124 से अधिक गीतों की रिकाॅर्डिंग की है। आकाशवाणी से भी आपने गीत गाये है। सबसे पहली रिकाॅर्डिग हीरदा कुमाउनी के लिये की।


    प्रारम्भिक जीवन और शिक्षा-

    आपने कक्षा 6 तक की पढ़ाई दन्या में ही प्राप्त की। 7 वीं और 8 वीं की पढ़ाई दिल्ली से की। कुछ साल टेंमपररी रहकर 1970 में आपकी नौकरी बैंक में परमानेंट हो गई । परन्तु नौकरी एक साल में ही छोड़ दी थी। आप बताते है कि जिस दिन 1971 में भारत और पाकस्तिान का युद्ध शुरू हुआ था उसी दिन 14 जनवरी को आपने नौकरी छोड़ी थी। उसके बाद गायकी को ही आपने अपनी जिन्दगी सुपुर्द कर दी।

    Leave A Comment ?