Folk Songs

    जल कैसे भरूं

    जल कैसे भरूं जमुना गहरी ।।1।।
    ठाड़ी भरूं राजा राम जी देखे।
    बैठी भरूं भीजै चुनरी। जल कैसे ०
    धीरे चलूं घर सासु बुरी है।
    धमकि चलूं छलकै गागर। जल कैसे ०
    गोदी में बालक सिर पर गागर,
    परवत से उतरी गोरी, जल कैसे ०

    Related Article

    सिद्धि को दाता विघ्न विनाशन

    कैले बांधी चीर

    शिव के मन माहि बसे

    हाँ मोहन गिरधारी

    Leave A Comment ?

    Popular Articles