KnowledgeBase


    उत्तराखंड की झीलें

    Lake of Uttarakhand

    उत्तराखंड के कुमाऊँ मंडल और गढ़वाल मंडल में कई प्रकार की झीलें पाई जाती है। उत्तराखंड में पाई जाने वाली झीलों का निर्माण भूगर्भीय परिवर्तनों, हिमनदों और भूस्खलन हुआ है। यहाँ पर हमने उत्तराखंड में पाई जाने वाली झीलों को दो भाग में बाटा है- कुमाऊँ मंडल की झीलें और गढ़वाल मंडल की झीलें जो कि निम्न प्रकार है।


    कुमाऊँ मंडल के प्रमुख ताल/झील/सरोवर

    क्र.सं.तालजिलाविशेषता
    1.नैनीतालनैनीताल⚬ नैनीताल का सन्दर्भ स्कन्दपुराण में ऋषि सरोवर नाम से मिलता है।
    ⚬ नैनीताल झील सात पहाड़ियों से घिरा हुआ है, जो इस प्रकार है - चीना पीक (नैनी पीक), शेर का डांडा, अयारपाटा, देवपाटा, हांडी बांडी, आल्मा पीक, लड़िया कांटा।
    ⚬ झील की अधिकतम लंबाई 1430 मीटर, चोड़ाई 465 मीटर तथा गहराई 16 से 26 मीटर तक है।
    2.भीमतालनैनीताल⚬ यह कुमाऊँ मंडल की सबसे बड़ी झील है।
    ⚬ झील की अधिकतम लंबाई 1674 मीटर, चोड़ाई 447 मीटर तथा गहराई 26 मीटर तक है।
    3.नौकुचियातालनैनीताल⚬ यह कुमाऊँ मंडल की सबसे गहरी झील है।
    ⚬ झील की अधिकतम लंबाई 1674 मीटर, चोड़ाई 447 मीटर तथा गहराई 26 मीटर तक है।
    4.साततालनैनीताल⚬ यह कुमाऊँ की सबसे रमणीय झील है।
    ⚬ यह ताल सात तालों का समूह है जो इस प्रकार है- रामताल, सीताताल, लक्ष्मणताल, भरतताल, शत्रुघ्नताल, पन्नाताल और नल-दमयंती ताल।
    5.खुर्पातालनैनीताल⚬ यह ताल नैनीताल से 10 कि.मी. की दूरी पर स्थित है।
    ⚬ ताल की लम्बाई 1633 मीटर, चौड़ाई 5000 मीटर है।

    Leave A Comment ?