KnowledgeBase

    भंकोरा

    bhonkra

    ‌तांबे का लम्बा एक इंच गोलाई से तीन इंच गोलाई तक बना हुआ वाद्ययंत्र है. जिसकी लम्बाई 36 इंच होती है। यह पर्वतीय क्षेत्र का वाद्ययंत्र है। इसके स्वर मधुर होते हैं। "देवताओं के पूजन और नर्तन में (नौबत या घुयाल के अवसर पर) केवल सवर्णों के द्वारा ही यह वाद्ययंत्र बजाया जाता है"। भकोरा कभी भी अकेला नहीं बजाया जाता है उसके साथ दूसरा भंकोरा बजाने की प्रथा है। यह एक आहवान वाद्य है।

    Leave A Comment ?