KnowledgeBase


    बसंत पंचमी

    basantpanchami

    ‌जनवरी-फरवरी माघ मास में यह त्यौहार मनाया जाता है। इस दिन विद्या - बुद्धिदायिनी माँ सरस्वती का पूजन किया जाता है। इस पर्व को शुभ मान कर छोटे बच्चों का अक्षरारम्भ व बड़े बच्चों का यज्ञोपवीत संस्कार भी सम्पन्न किया जाता है। बालिकाओं के नाक-कान छेदन संस्कार भी किये जाते हैं, इस दिन पीले वस्त्र पहनने की प्रथा पुराने समय से ही चली आ रही है परन्तु आजकल की पीढ़ी फैशन के माहौल में कम ही दिखाई देती है। पीले रूमाल या पीले वस्त्र खरीद कर लोग इस त्यौहार को मना लेते हैं। इस त्योहार से बैठकी होली की शुरुआत भी होती है। Basant Panchami Uttarakhand 2022


    उत्तराखंड मेरी जन्मभूमि वाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिये यहाँ क्लिक करें: वाट्सएप उत्तराखंड मेरी जन्मभूमि

    हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें: फेसबुक पेज उत्तराखंड मेरी जन्मभूमि

    हमारे YouTube Channel को Subscribe करें: Youtube Channel उत्तराखंड मेरी जन्मभूमि

    Leave A Comment ?